उत्तर प्रदेश संग्रहालय निदेशालय
संस्कृति विभाग, उत्तर प्रदेश


जनपदीय संग्रहालय, सुल्तानपुर (1989)

जनपदीय संग्रहालय, सुल्तानपुर (1989)

जनपदीय संग्रहालय, सुल्तानपुर रेलवे स्टेशन से लगभग 01 किमी0 एवं बस स्टेशन से 500 मीटर दूरी पर सुल्तानपुर, सुपर मार्केट में स्थित है। गूगल मैप के अनुसार यूनियन बैंक ऑफ इण्डिया के सामने संग्रहालय स्थित है।
संग्रहालय सुलतानपुर जनपद के अनेक महत्वपूर्ण पुरास्थलों जैसे शनिचरा कुंड भांटी, सोमना भार, कालूपाठक का पुरवॉ, अहिरन पलिया, सोहगौली, महमूदपुर आदि स्थलो पर पुरासांस्कृतिक सम्पदा बिखरी दिखायी देती है। यही नहीं इस जनपद के आस-पास के जनपदों में भी धरती के गर्भ से बराबर अतीत की धरोहर निकलती रहती है। इनके विविध आयामों से सम्बन्धित सामग्रियां और बिखरी सांस्कृतिक पुरा सम्पदा को संकलित, सुरिंक्षत, प्रदर्शित, प्रलेखीकृत व प्रकाशन कर उन पर अध्ययन अनुसंधान करने कराने के बहुउद्देश्य से वर्ष 1988-89 में इस संग्रहालय की स्थापना की गई।

वर्तमान में संग्रहालय में दो वीथिकायें जनसामान्य के अवलोकनार्थ खुली हैं। एक वीथिका में प्रस्तर प्रतिमायें, मृण मूर्तिया एवं काष्ठ कलाकृतियॉ प्रदर्शित है। द्वितीय वीथिका रफी अहमद किदवई को समर्पित है। इस वीथिका में उनके जीवन से जुड़ी वस्तुओं को संजोया गया है। आलोच्य अवधि में बड़ी संख्या में लोगों ने संग्रहालय का भ्रमण किया।

पाषाण प्रतिमाएं, मृण्मूर्तियां, ताम्र सिक्के, रजत सिक्के, स्वर्ण सिक्के, चित्र/पाण्डुलिपियां, ताम्र/पाषाण अभिलेख, विशिष्ट सिक्के, रजत/ताम्र पदक, आभूषण, कलात्मक वस्तुएं संग्रहालय में संग्रहीत है।


Copyright © 2013 उत्तर प्रदेश संग्रहालय निदेशालय संस्कृति विभाग, उत्तर प्रदेश
Design by : उत्तर प्रदेश संग्रहालय निदेशालय संस्कृति विभाग, उत्तर प्रदेश