उत्तर प्रदेश संग्रहालय निदेशालय
संस्कृति विभाग, उत्तर प्रदेश


उत्तर प्रदेश संग्रहालय निदेशालय के कार्य दिवस का समय

पूर्वान्ह 09:30 बजे से अपरान्ह 06:00 बजे तक

साप्ताहिक अवकाश - शनिवार एवं रविवार
नोट - अन्य सार्वजनिक अवकाश में निदेशालय बन्द रहता है।

उत्तर प्रदेश संग्रहालय निदेशालय के अधीनस्थ संग्रहालयों के कार्य दिवस का समय

पूर्वान्ह 10:00 बजे से अपरान्ह 5:00 बजे



संग्रहालय में भ्रमण का समय तक

पूर्वान्ह 10:30 बजे से अपरान्ह 4:30 बजे

साप्ताहिक अवकाश - सोमवार
नोट - अन्य सार्वजनिक अवकाश एवं द्वितीय शनिवार के बाद पड़ने वाले रविवार में संग्रहालय बन्द रहता है।

श्रीमती आनंदीबेन पटेल श्री योगी आदित्यनाथ डॉ0 नीलकंठ तिवारी
माननीय राज्यपाल, उत्तर प्रदेश माननीय मुख्यमन्त्री,उत्तर प्रदेश माननीय मंत्री पर्यटन, संस्कृति एवं धर्मार्थ कार्य(स्वतंत्र प्रभार),प्रोटोकॉल(एम.ओ.एस ), उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश संग्रहालय निदेशालय

संग्रहालय सांस्कृतिक सम्पदा, ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक धरोहरों को सुरक्षित एवं संरक्षित रखने का वह केन्द्र है, जहां प्राचीन कलाकृतियों को संग्रहीत कर राष्ट्र के अतीत की गौरवशाली संस्कृति का दर्शन शोधार्थियों बुद्धिजीवियों तथा सामान्य जनमानस को कराया जाता है। संग्रहालय का कार्य कलाकृतियों एवं पुरावशेषों का संग्रह, संरक्षित, शोध तथा उन्हें प्रदर्शित करना है। संग्रहालय वर्तमान में अनौपचारिक शिक्षा का केन्द्र भी है जो समय-समय पर प्रदर्शनी, व्याख्यान तथा संगोष्ठी आयोजित कर सामान्य जनमानस में कला के प्रति अभिरूचि जागृत कर शिक्षा प्रदान करने का कार्य भी करते हैं।

प्रदेश के समस्त संग्रहालयों के विकास संवर्द्धन, स्वतंत्र नियंत्रण एवं प्रभावी पर्यवेक्षण, नये संग्रहालयों की स्थापना, आधुनिकीकरण. सुदृढ़ीकरण, कलाकृतियों एवं पुरावशेषों के क्रय, उनके प्रदर्शन तथा कला अभिरूचि के विकास, व्याख्यान, प्रशिक्षण आदि योजनाओं के उन्नयन हेतु 31 अगस्त, 2002 से उ0 प्र0 संग्रहालय निदेशालय के रूप में स्वतंत्र निदेशालय की स्थापना की गई। निदेशक, उ0 प्र0 संग्रहालय निदेशालय विभागाध्यक्ष के कार्यों एवं दायित्वों के साथ-साथ राज्य संग्रहालय, लखनऊ के निदेशक के कार्य एवं दायित्वों का निर्वहन करते हैं। वर्तमान में उत्तर प्रदेश में कुल सोलह राजकीय संग्रहालय उ0 प्र0 संग्रहालय निदेशालय के अधीन संचालित हैं।

संग्रहालय ज्ञान का वातायन, भविष्य का शिक्षक एवं अतीत का संरक्षक है। संग्रहालय सांस्कृतिक सम्पदा, ऐतिहासिक एवं पुरातातिवक धरोहरों को सुरक्षित एवं संरक्षित रखने का वह केन्द्र है, जहां प्राचीन कलाकृतियों को संग्रहीत कर राष्ट्र के अतीत की गौरवशाली संस्कृति का दर्शन शोधार्थियों बुद्धिजीवियों तथा सामान्य जनमानस को कराया जाता है।



उ0 प्र0 संग्रहालय निदेशालय, लखनऊ के नियंत्रणाधीन संग्रहालयों द्वारा चौरी-चौरा शताब्दी वर्ष पर प्रस्तावित कार्यक्रमों की सूची।



Copyright © 2013 उत्तर प्रदेश संग्रहालय निदेशालय संस्कृति विभाग, उत्तर प्रदेश
Design by : उत्तर प्रदेश संग्रहालय निदेशालय संस्कृति विभाग, उत्तर प्रदेश